25 लाख का इनामी कुख्यात नक्सली प्रदुमन शर्मा गिरफ्तार 90 से अधिक मामले थे दर्ज

सुनील कुमार नवादा : प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी कमांडर प्रदुमन शर्मा को पुलिस ने हजारीबाग जिले के चौपारण से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार नक्सली प्रदुमन 25 लाख का इनामी था और पुलिस उसे काफी लंबे समय से तलाश कर रही थी। बिहार सरकार ने प्रदुमन पर 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था।हजारीबाग के पुलिस अधीक्षक मनोज रतन चौथे ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि चौपारण थाना क्षेत्र के दासी कर्मा क्षेत्र में प्रदुमन अपने दस्ते के साथ मौजूद हैं । इसके बाद एसपी अभियान निगम प्रसाद के नेतृत्व में टीम बनाकर कार्रवाई की गई। इसके बाद प्रदुमन शर्मा की गिरफ्तारी हुई है ।

प्रदुमन 1996 से माओवादी का सक्रिय सदस्य रहा है। एसपी ने बताया कि पुलिस ने प्रदुमन शर्मा को 19 अगस्त की रात गिरफ्तार किया। प्रदुमन शर्मा पर बिहार और झारखंड में करीब 90 से भी अधिक मामले दर्ज हैं। प्रदुमन 1996 से माओवादी का सक्रिय सदस्य रहा है। प्रदुमन शर्मा मगध जोन का सबसे महत्वपूर्ण कमांडर था। यह स्पेशल एरिया कमेटी का सक्रिय सदस्य था। साथ ही इस्टर्न रीजनल ब्यूरो के शीर्ष नेताओं के संपर्क में हमेशा रहता था। 2019 में हुई मुठभेड़ में बच गया था प्रदुमन एसपी के मुताबिक , इसकी गिरफ्तारी मगध जोन एवं बिहार – झारखंड राज्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण सफलता है बताया गया कि आखिरी बार 10 अगस्त 2019 को प्रदुमन शर्मा के दस्ते के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी। चौपारण के भदेल में हुई इस मुठभेड़ में प्रदुमन शर्मा बच निकला था। लेकिन उसका साथी और माओवादी सदस्य लालदास मोची मारा गया था।प्रदुमन बिहार के जहानाबाद जिले का रहने वाला है।

बताया गया है कि सर्च अभियान के दौरान कोठो गांव डूमर पहाड़ से सशस्त्र बल नीचे उतर रहे थे। इसी दौरान नाले के तरफ से बेबराटांड़ की ओर से दो व्यक्ति को आते देखा गया। दोनों व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने लगे। भागने के क्रम में एक व्यक्ति को पुलिस टीम ने खदेड़ कर दबोच लिया। वहीँ एक अन्य व्यक्ति जंगल का लाभ उठाकर भागने में सफल रहा। पकड़े गए व्यक्ति से नाम और पता पूछने पर उसने अपना नाम प्रदुमन शर्मा उर्फ कुंदन उर्फ साकेत बताया।

वह मूल रूप से बिहार के जहानाबाद जिला के हुलासगंज थाना क्षेत्र के रुस्तमपुर का रहने वाला है।प्रदुमन की गिरफ्तारी से नक्सलियों की मनोबल गिरेगा। एसपी प्रदुमन मगध जून का सबसे प्रमुख सदस्य और इसकी गिरफ्तारी के बाद पूरा मगध जोन और बिहार और झारखंड राज्य के लिए यह एक महत्वपूर्ण सफलता है। एसपी ने बताया कि इसकी गिरफ्तारी होने से नक्सलियों का मनोबल गिरेगा और साथ ही इनका आर्थिक तंत्र भी कमजोर पड़ेगा।

 7,288 total views,  7 views today

Share and Enjoy !

Shares
Shares