करोड़ों खर्च कर बनाया गया सड़क एक साल में ही हो गया क्षतिग्रस्त .

बाराचट्टी( गया) रिपोर्ट विनोद विरोधी:- सूबे में सुशासन की सरकार का ढिंढोरा पीटा जा रहा है, लेकिन हकीकत कुछ और ही है।विभागीय अधिकारी व रोड कंस्ट्रक्शन कंपनी की मिलीभगत से बड़े पैमाने पर सरकारी रकम की बंदरबांट कर विकास के नाम पर लीपा पोती का काम किया जा रहा है। कुछ इसी तरह का वाकया सामने आया है स्थानीय प्रखंड के पतलुका पंचायत अंतर्गत करोड़ों की राशि खर्च कर महूंगाई से धमना जाने वाली मार्ग में पुल वाली सड़क का निर्माण किया गया है, जिसमें पुल से करीब 500 मीटर में मिट्टी भरकर सड़क बनाई गई है ,जो पहली ही बार में क्षतिग्रस्त हो गया है। जिसका दुष्परिणाम स्थानीय नागरिकों को भुगतना पड़ रहा है।

आवागमन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। बताया जाता है कि जब वाहन आमने सामने से गुजरती है तो उन्हें दुर्घटना का खौफ बना रहता है। यह पुल दर्जनों गांवों का संपर्क पथ ही नहीं है ,बल्कि बिहार झारखंड का भी रास्ता है। बताया जाता है कि इसके निर्माण में घटिया मटेरियल इस्तेमाल किए जाने के कारण एक साल के भीतर ही क्षतिग्रस्त हो गया है। गौरतलब है कि इस सड़क का निर्माण मिट्टी भरकर किया गया था ,जो 14 फीट ऊंची है। इसके किनारे पत्थर नहीं लगाया गया ।

सामाजिक कार्यकर्ता रहे रवि लाल ने बताया कि निर्माण के समय घटिया मटेरियल इस्तेमाल किए जाने की शिकायत अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी शेरघाटी के में किया गया था लेकिन तब इसे अनसुनी कर दी गई थी। अब जब इसका वास्तविकता सामने आई है ,तो संबंधित अधिकारी भी जिम्मेदारी लेने से कन्नी काट रहे हैं एक दूसरे पर दोषारोपण करने में लगे हैं।

 8,121 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

Shares
Shares