साइकिल किक के जन्मदाता थे भारत के महान फुटबॉलर मेवालाल: सुनील कुमार

Nawada/Report-Sunil kumar:-भारत के महान फुटबॉलर और साईकिल किक के जन्मदाता स्व. मेवालाल के जन्मोत्सव पर हिसुआ स्थित संत थॉमस पब्लिक स्कूल में एक कार्यक्रम आयोजित कर स्व. मेवालाल फूटबाल टीम के द्वारा उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया । स्व. मेवालाल टीम के संयोजक सह कार्यक्रम के आयोजक परमेन्द्र कुमार द्वारा इस मौके पर फुटबॉल खिलाड़ियों एवं कलाकारों को मैडल, प्रशस्ति पत्र एवं कप देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत स्व. मेवालाल की प्रतिमा पर माल्यार्पण और पुष्प अर्पित कर किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ऑल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन के नवादा जिलाध्यक्ष सुनील कुमार एवं खेल शिक्षिका पूनम कुमारी थी । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि सह वरिष्ठ पत्रकार सुनील कुमार ने कहा कि स्व. मेवालाल भारतीय टीम में एक स्ट्राइकर के रूप में खेलते हुए अपने फिटनेस, साइकिल किक और गोल करने की क्षमताओं के लिए जाने जाते थे । विशेष रूप से वे रबोना किक का उपयोग करते थे।

भारतीय फुटबॉल जगत में मेवालाल एक महान शख्सियत थे। यूं तो उन्होंने भारत को कई मैचों में जीत दिलाई थी लेकिन 1951 के एशियन गेम में उन्हें फुटबॉल जगत में काफी लोकप्रियता मिली थी।जब उन्होंने उस गेम में ईरान के खिलाफ विजयी गोल दाग कर हिंदुस्तान को गोल्ड मेडल दिलाया था और तब तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उनकी पीठ थपथपाई थी।

उनकी प्रशंसा में नेहरू ने कहा था कि, इस अद्धितीय खिलाड़ी को देश कभी नहीं भूलेगा। कारण, उस समय भारत हाल ही में आजाद हुआ था। खेल के लिए न पैसे थे, न संसाधन, फिर भी खिलाडिय़ों में खेलने का जोश और जुनून ऐसा दिखाया था कि दूसरे देश अचंभित रह गए थे।

शिक्षिका पूनम कुमारी ने कहा कि मेवालाल की प्रतिभा का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वे दो-दो बार लंदन (1948) और हेलसिंकी (1952) ओलंपिक में भारतीय फुटबॉल टीम का हिस्सा रहे। प्रथम श्रेणी के मैचों में इस खिलाड़ी ने प्रतिष्ठित मोहन बगान टीम के खिलाफ हैट्रिक लगाकर सबको चकित कर दिया था।

कोयलांचल का सौभाग्य रहा था कि मेवालाल न केवल यहां आए थे, बल्कि उस समय के फुटबॉल खिलाडिय़ों को खेल के विशिष्ट गुर भी बता गए थे।

इस मौके पर महिला खिलाड़ी नीलम कुमारी, दिव्या कुमारी, काजल कुमारी, नीशू कुमारी, मुस्कान कुमारी, सौरभ कुमार, नाजुक कुमारी, राजनंदिनी, नैना कुमारी, नेहा कुमारी, रिया कुमारी, वर्षा ज्योति, निक्की कुमारी, स्वाति कुमारी, ज्योति कुमारी को सम्मानित किया गया तथा हिसुआ के सांस्कृतिक कलाकार योग गुरु प्रवीण कुमार, शिक्षक कृष्णकांत जी, मनोज कुमार शर्मा, अशोक कुमार, विजय चक्रवर्ती, नीलेश गिरी, छोटू गायक, थॉमस के अब्राहम आदि को सहयोग के लिए नेहरू युवा केन्द्र द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया । अन्त में आयोजक प्रमेन्द्र कुमार ने उपस्थित लोगों का धन्यवाद ज्ञापन किया ।

 7,145 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0