नारी को शिक्षित किए बिना समाज का सर्वांगीण विकास असंभव:श्वेता.

रीना शर्मा/वजीरगंज (गया):-समय कठिन है़ पर मनोबल बनाए रखिए!मन कमजोर हो रहा पर हौसला बनाए रखिए!!हो कितनी भी विकट स्थिति, अपना और अपने परिवार के साथ मुस्कुराते रहिए!!उक्त बातें वजीरगंज प्रखंड के सिन्हा कॉलोनी निवासी सत्येन्द्र कुमार डब्लू क़ी पुत्री सह स्नातकोत्तर क़ी छात्रा श्वेता शर्मा ऩे अपने 24वें जन्म दिन के मौके पर कही एवं नारी शिक्षा पर कुछ अपना विचार आम लोगों एवं सरकार तक एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी है़।

स्नातकोत्तर छात्रा सुश्री श्वेता शर्मा ऩे कहा क़ि नारी को शिक्षित हुए बिना समाज का सर्वांगीण विकास संभव नहीं है, क्योंकि महिला न सिर्फ एक घरेलू नारी है, बल्कि जगत जननी भी है। महिलाओं में पनप रही दृढ़ इच्छा शक्ति को जगाने की जरूरत है। अशिक्षा के कारण ही नारी न सिर्फ दहेज की बली बेदी पर चढ़ाई जा रही है, बल्कि कम उम्र में शादी भी अशिक्षा का कारण है़।

उन्होने कहा कि आज के दिन में सबसे ज्यादा दुर्गति हुई है वह एक शिक्षा क़ी एवं दूसरी नारी की। शिक्षा अंक प्रधान होकर रह गयी है,जबकि नारी की स्थिति एकदम नीचे गिर रही है। दिन प्रति दिन बराबर नारी के साथ कुछ न कुछ घरेलू हिंसा सहित अन्य घटनाएं घट रही है, जबकि हर घर में बेटी और बहन है।आखिर ये सिलसिला कब तक चलता रहेगा?इसके लिए लोगों में मौलिक शिक्षा क़ी जरूरत है़।

 1,975 total views,  4 views today

Share and Enjoy !

Shares
Shares