बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र के जलमग्न गांवों के किसानों को तत्काल क्षतिपूर्ति दे सरकार: श्याम नंदन यादव.

Bakhtiyarpur/newsaaptak.live desk:-भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम नंदन यादव ने बख्तियारपुर विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा कर जलमग्न गांव में उत्पन्न पशु की चारा की समस्या को देखते हुए सरकार से अभिलंब मुआवजा भुगतान करने की मांग किया है.

उन्होंने कहा है कि बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र के लगभग गाँव जो दियारा और टाल क्षेत्र का है बाढ़ प्रभावित रहता है, दियारा का गंगा से कटाव और आवागमन अवरुद्ध सामान्य बात है तो टाल क्षेत्र का गांव बाढ़ के पानी से महीनों तक प्रभावित रहता है जिसके कारण दोनों क्षेत्र में खाद्दान्न के साथ साथ पशुओं के आहार की काफी कठिनाई होती है, आमजनों को अपनी आवश्यक बस्तुओं की खरीदारी में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, बख्तियारपुर प्रखण्ड खुसरूपुर प्रखण्ड और दानियावां प्रखण्ड तीन प्रखंडो का विधानसभा क्षेत्र जलमग्न हो जाता है, गंगा नदी, धोबा नदी और महतमाइन नदी इसी इलाके से बहती है जो पूरा फतुहा से लेकर बढहिया टाल तक पूरे भूमि को जलमग्न कर देती है और इसका निकास की समुचित प्रबंधन नहीं होने के कारण 3से4महीने तक पानी जमा रहता है जिसके कारण रब्बी फसल की बोआई में काफी विलम्ब होता है. खुसरूपुर प्रखण्ड के दक्षिणी इलाके के गांव चौड़ा, मालपुर, हैबतपुर, कोहंवा, इस्माइलपुर, थेगुआ जग्गुबीघा, चैनपुर आदि गांवों में नदी का पानी फैलना सुरु हो गया है जिससे जानवरों की चारा पर संकट उत्पन्न हो गया है.

अभी धान की रोपनी शुरू भी नहीं हुई है पर खेती योग्य भूमि जलमग्न होने लगा है उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार अविलम्ब पहल करे और स्थानीय प्रशासन को जल्द आदेश दे कि इन क्षेत्रों के जलप्लावित किसानों को तुरत25-25हजार रुपये का सहयोग प्रदान करें ताकि खेती करने से वंचित किसानों का भरपाई हो सके. चुकी प्रकृतिक आपदा के कारण किसानों, मजदूरों को हानि हुई है,वहीं फसल क्षति आपदा राशि अभी तक किसानों को नहीं दी जा रही है.

 4,024 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0