चाकंद में भ्रष्ट बिजली केबुल को चेंज कर बिजली व्यवस्था बहाल करने पर किसान नेता विकास मंडल ने बिजली विभाग के पदाधिकारियों को दिया धन्यवाद.

Gaya/newsaaptak.live/report Satyavir kumar:-चाकंद (बारा) बिजली फीडर से किसानों के लिए आपूर्ति की जाने वाली बिजली की आपूर्ति लाइन में रेलवे क्रॉसिंग के पास विगत दिनों केवूल भ्रष्ट हो जाने के कारण चाकंद क्षेत्र के दर्जनों गांवों में बिजली बाधित था जिसके कारण स्थानीय किसान बिजली विभाग के पदाधिकारियों द्वारा स-समय केवूल नहीं बदलने से खासे नाराज थे, स्थानीय किसान नेता विकास कुमार मंडल उक्त केवल को बदलने हेतु बिजली विभाग के पदाधिकारियों से लगातार वार्ता कर प्रयासरत थे और बिजली विभाग के पदाधिकारियों द्वारा इस समस्या को स समय समाधान नहीं किए जाने पर स्थानीय किसानों के सहयोग से आंदोलन की चेतावनी दिया था.

बिजली विभाग के पदाधिकारियों को किसानों के आंदोलन की भनक लगते ही आनन-फानन में व्यवस्था दुरुस्त करने हेतु अभिलंब सक्रिय हो गए और भ्रष्ट केवुल को चेंज करते हुए किसानों के लिए निर्बाध रूप से बिजली व्यवस्था बहाल कर दिया गया, जिससे स्थानीय किसानों में खुशी की लहर दौड़ गई। बिजली विभाग द्वारा बिजली व्यवस्था बहाल कर दिए जाने पर किसान नेता विकास कुमार मंडल ने बिजली विभाग के तमाम पदाधिकारियों को धन्यवाद दिया है और कहा है कि अन्नदाताओं की समस्या को नजरअंदाज करना पाप ही नहीं एक बहुत बड़ा अपराध है.

क्योंकि बिजली पर आश्रित किसानों को यदि समय पर बिजली नहीं मिली तो अनाज उपज होना नामुमकिन ही नहीं दुर्लभ है. मैं बिजली विभाग के तमाम कर्मचारियों पदाधिकारियों से अपील करता हूं कि किसी भी हाल में किसानों को स-समय बिजली उपलब्ध कराई जाए. किसान नेता विकास कुमार मंडल ने बिजली विभाग के पदाधिकारियों से बिजली सप्लाई में जर्जर तारों,डिस, ब्रैकेट तथा जर्जर अवस्था में आ चुके इलेक्ट्रिक पौलों को चेंज करने की मांग किया है.

स्थानीय किसानों ने इस मुहिम में साथ देने के लिए न्यूज़ आप तक को भी धन्यवाद दिया है. धन्यवाद देने वालों में किसान नेता अनिल यादव, सुबोध यादव, रामशरण प्रसाद मेहता, शंकर साव आदि शामिल हैं.

 2,428 total views,  4 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0