अवैध बालू खनन माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए मगध आयुक्त ने दिया लगातार छापेमारी का आदेश.

Gaya/newsaaptak.live:-आयुक्त, मगध प्रमंडल, गया, मयंक वरवड़े की अध्यक्षता में बालू की चोरी रोकने तथा बालू माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए बैठक कर सप्ताह में दो से तीन दिन छापेमारी करने हेतु संबंधित अंचलाधिकारी के साथ खनन पदाधिकारी को समन्वय स्थापित करने का निर्देश दिया, आयुक्त ने खनन पदाधिकारी को बैठक में कहा है कि वे अपना प्रभावी नेटवर्क तैयार करें।उन्होंने कहा कि अवैध बालू खनन पर अंकुश लगाने के लिए सरकार गंभीर है और बालू की अवैध खनन रोकने की पूरी जिम्मेबारी खनन पदाधिकारी का है लेकिन अबैध खनन नहीं रुक रहा है।

बैठक में पुलिस महानिरीक्षक मगध प्रक्षेत्र अमित लोढ़ा द्वारा बताया गया कि संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संबंधित अंचलाधिकारी, खनन पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष को आपस में समन्वय स्थापित कर प्रभावी कार्यवाही करने की आवश्यकता है, जहां भी बालू माफिया सक्रिय पाए जाते हैं उन्हें ऑन द स्पॉट वाहन को जब्त करते हुए माफियाओं के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें इसके साथ ही बालू माफिया को गिरफ्तार करने हेतु ठोस कार्रवाई करे।

वहीं जिला पदाधिकारी, गया, अभिषेक सिंह ने कहा कि गया जिला अंतर्गत 95 बालू घाट हैं, इन सभी बालू घाटों पर नेटवर्क तैयार करें, प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन पर्याप्त संख्या में है, जहां भी छापेमारी करेंगे पुलिस प्रशासन का संपूर्ण सहयोग दिया जाएगा। जिला पदाधिकारी ने कहा कि बड़े-बड़े माफियाओं पर पैनी नजर बनाए रखें तथा अवैध खनन रोकने एवं माफियाओं को पकड़ने पर पहल करें।अवैध खनन के लगातार छापेमारी करने के लिए जिला पदाधिकारी ने खनन पदाधिकारी को एक अतिरिक्त वाहन देने का भी आश्वासन दिया है।उन्होंने आगे कहा कि खनन पदाधिकारी प्रभावी कार्रवाई करें ताकि लोगों के बीच एक पॉजिटिव मैसेज जाए। जिला पदाधिकारी ने बताया कि फतेहपुर, बेलागंज कंडी नवादा इत्यादि बालू घाटों में अवैध खनन करने वाले माफियाओं के बीच डर पैदा करने की आवश्यकता है।   

आयुक्त मगध प्रमंडल ने निर्देश दिया कि बालू लदे ट्रैक्टरों/ बड़े वाहनों को पकड़े। छापेमारी की सूचना गोपनीयता के साथ बनाए रखें। जुलाई-अगस्त एवं सितंबर महीनों में बालू का उठाव बंद रहता है, ऐसी स्थिति में बालू माफिया अवैध खनन को अंजाम दे सकता है। अतः इन पर जून महीने में प्रभावी अंकुश लगाना आवश्यक है। प्रत्येक सप्ताह प्रभावी कार्रवाई करते रहें तथा संबंधित प्रतिवेदन आयुक्त तथा पुलिस महा निरीक्षक मगध क्षेत्र को समर्पित करते रहें। खनन पदाधिकारी का कार्य है सिर्फ छापेमारी करना होगा तथा माफिया के विरुद्ध कार्रवाई करना होगा अंचलाधिकारी माफिया के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करेंगे।

आगे वरीय पुलिस अधीक्षक ने आश्वासन दिया कि प्रशासन तथा पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल पर्याप्त संख्या में उपलब्ध रहेगा। छापेमारी के दौरान जितना पुलिस बल की आवश्यकता होगी, उतना दिया जाएगा। इस बैठक में मगध प्रमंडल के अधिकरी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

 1,761 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0