चाकंद (बारा) बिजली फीडर का सप्लाई केबुल जलने से दर्जनों गांवों में बिजली सप्लाई बंद.किसान नेता विकास मंडल ने दिया आंदोलन की चेतावनी.

Gaya /report satyavir kumar: गया जिला मुख्यालय से सटे चाकंद क्षेत्र में गया- पटना मुख्य मार्ग पर बारा रेलवे क्रॉसिंग के पास बिजली का केबुल भ्रष्ट हो जाने के कारण महीनों दिन से दर्जनों गांव में बिजली सप्लाई बंद है जिसके कारण स्थानीय किसानों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, बताया जाता है कि बारा फीडर से गंगापुर, नौगढ़, मेहरबानपुर, मीराबीघा मदन बिगहा, बहादुरबिगहा से लेकर दल्लीबिघा, गंगटी तक दर्जनों गांवों में बिजली सप्लाई होती है और यह क्षेत्र कृषि आधारित क्षेत्र है एवं मुख्य रूप से बिजली पर ही निर्भर है

लेकिन विगत एक माह से केबुल जल जाने के कारण किसानों को बिजली नहीं मिल पा रही है जिसके कारण किसान काफी परेशान हैं. ज्ञात हो कि किसानों का धान रोपनी हेतु बिचड़ा डालने का समय आ गया है और सही समय पर बिजली नहीं मिलने से बिचड़ा डालने का समय निकल जाएगा जिससे धान की रोपनी भी प्रभावित हो सकती है

वहीं बिजली नहीं मिलने के कारण कई सब्जी की फसल का भी नुकसान हो रहा है जो किसानों के लिए चिंता का विषय है. विगत दिनों भारी वर्षा के कारण भी किसानों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है. किसानों के बीच में बिजली व्यवस्था बहाल करने हेतु स्थानीय किसान अनिल यादव, शंभू शरण प्रसाद, सुबोध यादव, शंकर साव के साथ-साथ किसान नेता विकास कुमार मंडल ने बिजली विभाग के कनीय अभियंता से लेकर वरीय पदाधिकारियों तक गुहार लगा चुके हैं लेकिन करवाई शून्य है. वहीं स्थानीय जनप्रतिनिधियों का इस समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं है, जिससे किसान खासे नाराज हैं. उक्त समस्या के निदान हेतु किसानों ने अब खुद कमर कस ली है और आंदोलन की मन बना रहे हैं. किसान नेता विकास कुमार मंडल ने न्यूज़ आप तक को बताया कि उक्त समस्या के समाधान हेतु किसानों के बीच में कल से हस्ताक्षर अभियान शुरू किया जाएगा

और बिजली विभाग के वरीय अधिकारियों को सूचित किया जाएगा यदि अभिलंब समस्या का समाधान नहीं होता है तो किसानों के साथ बिजली विभाग के लापरवाह कार्यशैली एवं किसानों के विरुद्ध नकारात्मक रवैया को लेकर धारदार आंदोलन किया जाएगा.

इस संबंध में बिजली विभाग के एसडीओ विनोद कुमार चौधरी ने बताया कि समस्या समाधान हेतु प्रयासरत हैं बहुत जल्द ही समस्या का समाधान कर दिया जाएगा, वर्तमान समय में 2 फेज लाइन चालू है रेलवे क्रॉसिंग से मामला जुड़ा होने के कारण खुदाई हेतु रेलवे से भी अनुमति की आवश्यकता पड़ती है.

 2,518 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0