त्रिस्तरीय पंचायत परामर्शी समिति गठन का निर्णय स्वागत योग्य:- सुचिता रंजनी

Gaya /Satyavir kumar:-बिहार में कोरोना महामारी के कारण त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव अगले आदेश तक नहीं होने की स्थिति में वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर संचालन हेतु नई त्रिस्तरीय पंचायत परामर्शी  समिति गठन कर निवर्तमान पंचायत प्रतिनिधियों को ही कमान सौंपने की सरकार के निर्णय का पंचायत प्रतिनिधियों ने स्वागत किया है ।

बिहार प्रदेश प्रमुख संघ के महासचिव सह नगर प्रखंड (चंदौती) गया, प्रमुख सुचिता रंजनी ने सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि नीतीश सरकार द्वारा ऐसा निर्णय नहीं लिया जाता तो 15 जून के बाद पंचायती राज व्यवस्था पूरी तरह लालफीताशाही की भेट चढ जाता और महात्मा गांधी द्वारा परिकल्पना किया गया ग्राम पंचायत सरकार की सपना और सोच पर आघात पहुंचता, वहीं सरकार के द्वारा सीधे तौर पर पंचायतों में जन भागीदारी समाप्त कर देने से लोकतंत्र की हत्या करार दिया जाता. नीतीश कैबिनेट द्वारा सोच समझकर यह निर्णय लिया जाना काबिले तारीफ है .

उम्मीद है कि नवगठित त्रिस्तरीय पंचायत परामर्शी समिति में बिहार सरकार निवर्तमान सदस्यों को सामाजिक संतुलन एवम् अनुभवों के आधार पर संतुलित समिति बनाएगी. सरकार की उक्त निर्णय का स्वागत करने वालों में पंचायत समिति सदस्य किरण देवी, अजय यादव, अमित सिंह, मुखिया सुधा देवी गुरुदयाल शरण के अलावे कई जनप्रतिनिधि शामिल हैं।

 4,718 total views,  10 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0