संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर राष्ट्रव्यापी ”प्रतिरोध दिवस” को राजद का भी मिला समर्थन.

Patna/किसानों के शांतिपूर्ण आंदोलन के छह महीने पूरे होने के मौके पर आज 26 मई को संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) द्वारा आहूत देशव्यापी ” प्रतिरोध दिवस ” को विपक्ष के प्रमुख 12 दलों के साथ राजद भी समर्थन किया है उक्त जानकारी राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने दिया है और कहा है कि केन्द्र सरकार को अड़ियल रवैया छोड़कर इन मुद्दों पर संयुक्त किसान मोर्चा ( एसकेएम ) के साथ फिर से वार्ता शुरू करनी चाहिये।

ज्ञात हो कि गत 12 मई को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव सहित देश के 12 प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने संयुक्त रूप से प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा था कि महामारी का शिकार बन रहे हमारे लाखों अन्नदाताओं को बचाने के लिये कृषि कानून निरस्त किये जाएं ताकि वे अपनी फसलें उगाकर भारतीय जनता का पेट भर सकें।’

संयुक्त रूप से प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कृषि कानूनों को तत्काल निरस्त करने और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के अनुसार सी2+ 50 प्रतिशत न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी अमलीजामा पहनाने की मांग भी की गई थी ज्ञातव्य हो कि संसद ने पिछले साल सितंबर में तीन कृषि विधेयक पारित किये थे, जो बाद में राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद कानून बन गया था, तभी से इन कानूनों के खिलाफ किसान पूरे देश में हरियाणा से लगे सिंघू और टीकरी बॉर्डर और उत्तर प्रदेश से सटे गाजीपुर बॉर्डर समेत कई स्थानों पर आंदोलन कर रहे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने राजद नेताओं को स्थानीय स्तर पर अन्य विपक्षी दलों के साथ समन्वय बनाकर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा के प्रति समर्थन व्यक्त करते हुए नये कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध दर्ज करवाने का निर्देश जारी किया था।

 10,019 total views,  112 views today

Share and Enjoy !

Shares
Shares