गरीबों को मुफ्त में मिलने वाले राशन का वितरण पारदर्शी बनाने के लिए विशेष निगरानी समिति का हो गठन: सुचिता रंजनी

Gaya/satyavir Kumar:- महामारी को देखते हुए केंद्र व राज्य सरकार गरीब व वंचित वर्ग को नि:शुल्क अनाज वितरण करने क़ा निर्देश जारी किया है।पिछले एक पखवाड़े से बिहार के फेयर प्राइस डीलर एसोसिएशन के द्वारा जारी हड़ताल के बाद गत दिन हड़ताल वापस लेकर अनाज उठाव क़ा कार्य शुरू हो पाया है। सरकार द्वारा जारी दो माह क़ा राशन निःशुल्क दिए जाने के बाद जहां एक ओर गरीबों में खुशी क़ा माहौल कायम है वहीं दूसरी ओर जन वितरण दुकानदारों द्वारा जमकर हेराफेरी की शिकायत मिल रही है।उक्त बातें गया नगर प्रखंड प्रमुख सुचिता रंजनी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि केंद्र और राज्य की जनहितैषी मंशा पर भ्रष्टाचार कर पलीता लगाया जा रहा है। शिकायत मिल रही है कि कहीं कहीं जन वितरण दुकानदारों द्वारा पात्र लोगों को राशन ही नहीं दिया जा रहा तो कहीं निशुल्क दिए जाने वाले अनाज का दाम वसूला जा रहा है। इस संबंध में गया जि़ले के गया नगर प्रखंड सहित कई अन्य क्षेत्रों से ग्रामीणों ने शिकायतें की हैं। इसलिए जिला प्रशासन को इसकी जांच कराना चाहिए। यह भी जांच कराने की आवश्यकता है कि जिन लोगों को अनाज वितरण किया गया है, उन्हें किस मात्रा में अनाज दिया गया है और कहीं उनसे नि:शुल्क अनाज की एबज में पैसा तो नहीं वसूला गया। इसकी निगरानी के लिए जिला एवं प्रखंड स्तर पर जांच दल बनाया जाय जिसमें पंचायत सचिव, रोजगार सेवक से लेकर एसडीएम भी शामिल किए जाएं ताकि गरीबों तक पूरा लाभ पहुंच सके। श्री मती रंजनी ने क्षेत्र के शिक्षित युवा वर्ग से भी अपील करते हुए कहा क़ि वे अपने क्षेत्र में सक्रिय रहकर यह देखें कि लोगों को राशन का उचित वितरण हो रहा है या नहीं।

कोरोना महामारी के दुसरे लहर के दौरान उन्होने आम लोगों सें अपील की है क़ि कोरोना संक्रमण से अपने एवं अपने परिवार क़ो बचाने के लिए कोरोना क़ा टीका जरूर लगवाएं। सरकारी गाइडलाइन क़ा पालन करें। मास्क पहने, भीड़ भाड़ वाली जगह में जाने से बचे, सामाजिक दूरी क़ा पालन करें, बहुत जरूरी हो तभी बाहर निकलें। उन्होने कहा कि अभी भी ग्रामीण क्षेत्र के लोग कोरोना वैक्सीन के बारे में गलतफहमी के शिकार हैं, जिन्हे सरकार द्वारा विशेष जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है।

 1,548 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0