तेजस्वी ने नीतीश को लिखा चिट्ठी, कहा कोरोना महामारी में मरीजों को राहत पहुंचाने हेतु दें परमिशन

Patna/newsaaptak.live:- बिहार में सत्ता पक्ष के नेताओं द्वारा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर इस वैश्विक कोरोना महामारी में गायब रहने का आरोप लगाते हुए बाहर निकलकर जन सेवा करने का नसीहत दिया गया था.इस पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने सत्ता पक्ष के नेताओं पर कटाक्ष करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखा है और कहा है कि कोई बड़ा संकट आता है तो पीड़ितो द्वारा अपना तारणहार खोजना स्वाभाविक है, इस सुशासन की लचर अव्यवस्था में मुझे सत्ता पक्ष के नेताओं द्वारा नसीहत दिया जा रहा है कि नेता प्रतिपक्ष को फ्रंट पर आकर पीड़ितों को जीवन रक्षक दवाइयों के साथ-साथ ऑक्सीजन अस्पतालों में बेड व्यवस्थित कराने के साथ-साथ कोरॉना के विरुद्ध इस लड़ाई की अगुवाई करनी चाहिए!

तेजस्वी यादव ने चिट्ठी में सत्ता पक्ष के नेताओं पर तंज कसते हुए उल्लेख किया है कि जब नेतृत्व मजबूर और लाचार दिखे तो अनुयायियों द्वारा नया नेतृत्व खोजा जाना भी अपेक्षित है। बिहार में सत्तारूढ़ दल के नेताओं द्वारा सरकारी कुव्यवस्थाओं को दूर करने के बजाय नेता प्रतिपक्ष को खोजे जाने की कवायद को, जनता भी इसी नजरिए से देख रही है

तेजस्वी यादव ने अपने आप को जिम्मेदार विपक्ष बताते हुए कहा है कि मैं एक संवैधानिक पद पर हूं ऐसे में मुझे राज्य के लोगों की समस्या को जानने तथा उसके समाधान हेतु सरकार द्वारा ली जाने वाली कदमों को जानने तथा जनहित में इसकी कमियों को भी उजागर कर सरकार के सामने लाने का अधिकार है। तेजस्वी यादव ने पत्र में उल्लेख किया है कि विगत वर्षों में देखा गया है कि अनेकों बार जनहित में जब जब सड़क पर उतरा हूं तो महामारी उल्लंघन अधिनियम के तहत मुकदमा कर मुझे अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने का प्रयास किया गया है जो प्रजातंत्र की गला घोटने तथा आपके हिटलरशाही रवैये का परिचायक है।

तेजस्वी यादव ने पत्र में उल्लेख करते हुए कहा है कि इस महामारी में सरकार की लचर व्यवस्था एवं असंवेदनशीलता से जूझती बिहार की जनता के लिए हम एवम् हमारे विधायकों तथा नेताओं द्वारा अपने अपने क्षेत्रों में जीवन रक्षक दवाइयों के साथ साथ ऑक्सीजन बेड आदि मुहैया कराया जा रहा है साथ ही साथ सामुदायिक किचन चल रहा है जिसकी मैं खुद विभिन्न क्षेत्रों में जाकर मॉनिटरिंग करना चाहता हूं जिसकी अनुमति देते हुए स्थानीय स्तर पर किसी तरह की असुविधा उत्पन्न ना हो इसकी व्यवस्था करने की मांग किया है।

 8,273 total views,  174 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0