4 माह से नियोजित शिक्षकों को वेतन नहीं मिलने से भुखमरी की समस्या हुई उत्पन्न। अब उधार राशन देना बंद कर दिया दुकानदार:शैलेन्द्र

रीना शर्मा/वजीरगंज(Gaya) वजीरगंज प्रखंड के नियोजित शिक्षकों को पिछले विगत चार माह से वेतन नहीं मिलने से शिक्षक़ो क़ो आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है कई शिक्षक तो भूखमरी के कगार पर पहुंच गए है। उक्त आशय क़ी जानकारी देते हुए वजीरगंज प्रखंड शिक्षक संघ अध्यक्ष उमेश कुमार सहित संघ के सक्रिय सदस्य शैलेंद्र कुमार, कमलेश कुमार, शंभू कुमार, रवि रंजन कुमार, राकेश कुमार, किशोरी पासवान आदि शिक्षकों ने कहा कि प्रखंड में नियोजित शिक्षकों को पिछले चार माह से वेतन नहीं मिला है।

शिक्षको ऩे कहा क़ि पिछले चार माह से वेतन नहीं मिलने से वर्तमान कोरोना काल में हम सभी शिक्षकों की हालत काफी चिन्ता जनक हो गई है। वेतन के अभाव में दुकानदार राशन तक देना बन्द कर दिये है । जिससे शिक्षकों के सामने भुखमरी की स्थिती उत्पन्न हो गई है। ईद जैसे पर्व में भी वेतन नहीं मिला।शिक्षकों की परेशानी देख प्रखंड अध्यक्ष ने वरीय पदाधिकारी से वेतन के साथ कई शिक्षकों क़ा हड़ताल अवधी का भी वेतन देने की मांग की है। जिससे कोरोना जैसी महामारी से अपना और अपने परिवार की सुरक्षा कर सके।

शिक्षकों ऩे कहा क़ि अविलंब अगर वेतन क़ा भुगतान नहीं किया गया तो शिक्षक संघ आंदोलन करने क़ो मजबुर होगा। वजीरगंज प्रखंड के मध्य विद्यालय बड़ही बिगहा के नियोजित शिक्षक सह संकुल समन्वयक शैलेंद्र कुमार ऩे कहा क़ि डीईओ कार्यालय के कर्मचारियों क़ी मनमानी रवैये के कारण आवंटन के बावजूद वजीरगंज प्रखंड के शिक्षको क़ा वेतन नहीं मिल सका है।उन्होने कहा क़ि सरकार क़ा नियोजित शिक्षको के प्रति सौतेलापन व्यवहार अब बर्दाश्त नहीं होगा। इस संबंध मेंं newsaaptak.live के संपादक चंद्र भूषण दास ने जिला शिक्षा पदाधिकारी गया से जानकारी हेतु बात करने का प्रयास किया तो मोबाइल नं 8544411293 ऑफ बताया।

 78 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0