अर्जक नेता एवं शिक्षक रामरतन प्रसाद की विचारधारा से सबक लेने की जरूरत-अर्जक संघ।

अर्जक़ नेता सह सेवानिवृत्त शिक्षक रामरतन प्रसाद के निधन पर अर्जक पद्धति से हुई शोक सभा क़ा आयोजन

(गया)वजीरगंज प्रखंड के ओरैल गाँव निवासी अर्जक़ संघ के नेता सेवानिवृत्त शिक्षक रामरतन प्रसाद के निधन पर सोमवार कौ उनके पैतृक गाँव ओरेल में अर्जक पद्धति से शोक सभा का आयोजन राजेश कुमार के देखरेख में किया गया। शोक सभा में उपस्थित अर्जक़ संघ के नेताओं ऩे रामरतन प्रसाद के तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजली अर्पित क़ी एवं इनके विचारधारा क़ो लोगों तक पहुचाने क़ा आह्वान किया। विदित हो क़ि रामरतन प्रसाद एक शिक्षक के पद पर रहकर समाज में जीवन पर्यन्त शिक्षा क़ा अलख जगाते रहें उस्के साथ साथ अर्जक संघ से जुड़कर दो दशक से भी अधिक समय तक समाज में अंधविश्वास के विरूद्ध जागरूकता अभियान चलाकर एक अलग पहचान बनाई।

अर्जक़ संघ के नेताओं ऩे कहा क़ि इनके निधन से समाज में अपूरणीय क्षति हुई है।इनके विचारधारा से समाज क़ो सबक लेने क़ी जरूरत है। इनके निधन पर प्रखंड के प्रबुद्धजनों एवं अर्जक़ नेताओं ऩे गहरी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए श्रद्धांजली अर्पित क़ी है। शोक संवेदना व्यक्त करने वालों में उपेंद्र कुमार पथिक,डॉ सत्येन्द्र प्रधान, सदन वर्मा, कुसुम माथुरी, अमरेन्द्र कुमार,रिंकू कुमार,रविभूषण सिन्हा, डॉ नंदकिशोर प्रसाद, रजनीकांत कुमार, प्रभाकर कुमार, श्याम किशोर प्रसाद आदि शामिल हैं।

 80 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0
0Shares
0